श्रद्धा मर्डर केस की पूरी कहानी, जानिए अबतक क्या-क्या हुआ?


मुंबई पुलिस की तरफ से दिल्ली पुलिस को जानकारी दी गई कि श्रद्धा महरौली इलाके में आफताब नाम के एक शख्स के साथ छतरपुर पहाड़ी के एक फ्लैट में रह रही थी. श्रद्धा के पिता ने जानकारी दी कि वह आफताब अमीन पुणे वाला जो कि मुंबई का रहने वाला है. उसके साथ पिछले 3 साल से लिव इन रिलेशनशिप में थी और आफताब लगातार पिछले कई सालों से उनकी बेटी के साथ प्रताड़ना करता रहा था. इस जानकारी के बाद दिल्ली पुलिस ने महरौली थाने में किडनैपिंग का मामला दर्ज किया और तफ्तीश शुरू की.

जांच के दौरान आफताब को हिरासत में लिया गया और जब उससे पूछताछ शुरू की गई तो शुरुआत में उसने पुलिस को गुमराह करते हुए यह बताया कि श्रद्धा उसके साथ लिव इन रिलेशनशिप में रह रही थी. लेकिन कुछ दिन पहले वह जिस किराए के मकान में रह रहे थे उस मकान को छोड़कर चली गई.

इसके अलावा पूछताछ में आफताब ने यह भी बताया कि वह इस केस को लेकर मुंबई पुलिस के सामने भी पेश हो चुका है और उनको भी यह तमाम सारी जानकारी मुहैया करा चुका है. लेकिन दिल्ली पुलिस उसके जवाबों से संतुष्ट नहीं थी. इसलिए पुलिस ने उसको साइंटिफिक तरीके से उससे पूछताछ की. उससे सवाल जवाब किए गए इसके बाद वो टूट गया और उसने श्रद्धा के कत्ल का गुनाह कुबूल कर लिया.

उसके मुताबिक मई 2022 से वह श्रद्धा के साथ छतरपुर के इसी फ्लैट में रह रहा था. 18 मई 2022 को उसने श्रद्धा का गला घोट कर उसकी हत्या कर दी. जिसके बाद उसने श्रद्धा की लाश को अलग-अलग टुकड़ों में काटकर और ठिकाने लगा दिया. उसके कुबूल नामे से जुड़े तमाम सबूत इकट्ठा करने के लिए 12 नवंबर को आफताब को गिरफ्तार किया गया. उसको 5 दिन की रिमांड पर लिया गया और 17 तारीख को फिर से 5 दिन की रिमांड अदालत से मिली.

तफ्तीश के दौरान दिल्ली पुलिस ने किराए पर लिए गए छतरपुर के उस फ्लैट का FSL की मदद से मुआयना किया. तमाम सबूत इकट्ठा किए गए उस जगह से पुलिस ने कई अन्य चीजें भी बरामद किए हैं. आरोपी आफताब की निशानदेही पर महरौली के जंगलों से भी कुछ हड्डियां बरामद की गई हैं. इन्हें जांच के लिए भेज दिया गया है. ये जांचने के लिए जो हड्डियां बरामद हुई हैं उसके लिए श्रद्धा के पिता और भाई के डीएनए सैंपल भी लिए गए हैं.

इसके अलावा मौके से कुछ डिजिटल डिवाइस भी जब्त किए गए हैं जिनको फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया गया है. ताकि उनका डिलीट किया गया डाटा वापस लाया जा सके. तमाम जानकारियां जो अब तक आरोपी के द्वारा मुहैया कराई गई हैं उनकी तस्दीक के लिए उसका नारको टेस्ट करवाया जाएगा कोर्ट के आदेश के बाद. जांच के लिए कई टीमें अलग-अलग राज्यों में मौजूद हैं. ताकि आरोपी और श्रद्धा की जिंदगी से जुड़े कई जरूरी बातें पता चल सके.

इसके अलावा कई टीमें श्रद्धा के सर की तलाश में लगी हैं. लेकिन अभी तक भी पुलिस को सर नहीं मिल पाया है. तमाम पुलिस की टीमें 24 घंटे इस केस से जुड़े कागजात को तैयार करने के अलावा जो अलग-अलग तथ्य इस केस को लेकर सामने आ रहे हैं उनकी जांच कर रही है और सबसे अहम के पीछे का मकसद पता करने की कोशिश में जुटी हुई है.

दिल्ली पुलिस के मुताबिक केस अभी शुरुवाती जांच में है. ऐसे में किसी एक थ्योरी पर यकीन कर लेना काफी मुश्किल है. लिहाजा ऐसे में दिल्ली पुलिस के बेस्ट अधिकारियों की मदद ली जा रही है और इस केस को सुलझा ने की पूरी कोशिश की जा रही है. कल रात एक बार फिर दिल्ली पुलिस आफताब को लेकर उसके घर गई थी जहां एक बार फिर, 18 मई की रात का रिक्रिएशन किया गया.

ये भी पढ़े:

       

श्रद्धा मर्डर मामले के आरोपी आफताब पूनावाला का पांच दिन के अंदर कराएं नार्को टेस्‍ट : कोर्ट
दोस्त का दावा- आफताब ने पहले भी की थी श्रद्धा का गला दबाने की कोशिश, जताया था जान का ख

Featured Video Of The Day

गुंबद विवाद से बीजेपी में बढ़ी कलह, विधायक ने दी पार्टी छोड़ने की धमकी



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *