“हिंदू धर्म ‘ओम शांति’ का संदेश देता है BJP ‘अशांति’ पैदा कर रही…”,  राहुल गांधी का तंज


राहुल गांधी ने कन्याकुमारी से कश्मीर तक 3,500 किलोमीटर दूरी की पदयात्रा शुरू की है. 

तिरुवनंतपुरम:

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर फिर से हमला करते हुए सवाल किया कि खुद को हिंदुओं का प्रतिनिधि कहने वाली पार्टी देश में कथित तौर पर ‘अशांति’ फैला रही है, जबकि हिंदू धर्म में पहला शब्द ‘ओम शांति’ सिखाया जाता है. कांग्रेस नेता ने एक दिन पहले, भाजपा पर प्रहार करते हुए आरोप लगाया गया था कि उसने साबित कर दिया है कि नफरत का इस्तेमाल राजनीति के लिए और चुनाव जीतने के लिए किया जा सकता है लेकिन यह रोजगार पैदा नहीं कर सकती. 

यह भी पढ़ें

केरल (Kerala) में, कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के तीसरे दिन के समापन पर मंगलवार की शाम यहां कल्लम्बलम में भारी भीड़ को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा कि हिंदू धर्म में जो पहली चीज सिखाई जाती है, वह ‘ओम शांति’ शब्द है. उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए कृपया मुझे बताइए कि खुद को हिंदुओं का प्रतिनिधि कहने वाली पार्टी पूरे देश में अशांति कैसे पैदा कर रही है? वे जहां कहीं जा रहे हैं सौहार्द को नष्ट कर रहे हैं, वे लोगों पर हमले कर रहे हैं, वे लोगों को विभाजित कर रहे हैं, उनसे दुर्व्यवहार कर रहे हैं. ”

वायनाड से सांसद ने कहा, ‘‘लेकिन सभी धर्मों का सार सौहार्द और करूणा है. सभी धर्म हमें एक दूसरे का सम्मान करने की शिक्षा देते हैं और यात्रा का उद्देश्य धर्म, समुदाय, भाषा, आदि को अलग रखते हुए लोगों को एकजुट करना है. ” अगले दिन के अपने यात्रा कार्यक्रम का विवरण देते हुए उन्होंने कहा कि वह यहां प्रसिद्ध समाज सुधारक श्री नारायण गुरु को श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे. मंगलवार को भी यात्रा के लिए उत्साहजनक भीड़ उमड़ी और रुक-रुक कर हो रही बारिश के बीच कांग्रेस नेता तथा सैकड़ों समर्थक बिना छतरी के सड़कों पर पदयात्रा करते दिखे.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कन्याकुमारी से कश्मीर तक 3,500 किलोमीटर दूरी की पदयात्रा शुरू की है. उन्होंने कहा कि यात्रा में शामिल लोगों के पैरों में छाले पड़ गए हैं लेकिन अभियान जारी रहेगा. कांग्रेस नेता राहुल गांधी और पदयात्रियों का अभिवादन करने के लिए सड़कों के किनारे बड़ी संख्या में लोगों का हुजूम खड़ा दिखा. बारिश के दौरान राहुल सहित कांग्रेस के नेता बिना छतरी के सड़कों पर पदयात्रा कर रहे थे. फेसबुक पर एक पोस्ट में कांग्रेस नेता ने हिंदी की एक कविता की पंक्तियों का जिक्र करते हुए लिखा, ‘‘भले ही पैरों में छाले हैं, लेकिन हम देश जोड़ने निकले हैं, हम नहीं रुकने वाले हैं.” उन्होंने इससे संबंधित एक वीडियो क्लिप भी साझा की.

यात्रा यहां कझाकूटम के निकट कन्यापुरम से सुबह करीब सवा सात बजे शुरू हुई. इस दौरान केरल चरण के पिछले दो दिनों की तरह ही लोगों की उत्साहजनक भीड़ देखी गई. ‘भारत जोड़ो’ यात्रा के तहत 150 दिनों में पदयात्रा करते हुए कन्याकुमारी से कश्मीर तक 3,570 किलोमीटर की दूरी तय की जाएगी. कांग्रेस महासचिव (संचार) जयराम रमेश ने ट्वीट किया, ‘‘अत्तिंगल में दिन में भोजनावकाश के लिए रूकने के दौरान राहुल गांधी ने मनरेगा श्रमिकों और के-रेल का विरोध कर रहे लोगों की बातें सुनी.”

शाम पांच बजे फिर से शुरू हुई यात्रा यहां कल्लम्बलम जंक्शन पर समाप्त हो गई. उल्लेखनीय है कि 150-दिवसीय पद यात्रा सात सितंबर को तमिलनाडु के कन्याकुमारी से शुरू हुई थी और यह 12 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों से होकर गुजरेगी. यह यात्रा केरल में 10 सितंबर की शाम पहुंची थी. इस यात्रा के तहत राज्य में 19 दिनों की अवधि में सात जिलों से होते हुए 450 किलोमीटर की दूरी तय की जाएगी. इसके बाद यह यात्रा एक अक्टूबर को कर्नाटक पहुंचेगी.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.