Calcium से भरपूर है यह छिलके वाली दाल, दूध से कई गुना ज्यादा इसमें होता है कैल्शियम 


Calcium Rich Foods: इस एक दाल में पाया जाता है भरपूर कैल्शियम. 

खास बातें

  • कैल्शियम से भरपूर है यह दाल.
  • शरीर को मिलता है पोषण.
  • हड्डियों की सेहत रहती है दुरुस्त.

Calcium Sources: कैल्शियम के स्त्रोत के रूप में अत्यधिक दूध को ही देखा जाता है. बढ़े हों या बच्चे सभी को कैल्शियम की पूर्ति के लिए दूध (Milk) दिया जाता है. लेकिन, कैल्शियम का एकलौता स्त्रोत दूध ही नहीं हैं. खाने की ऐसी बहुत सी चीजे हैं जिनमें कैल्शियम की अच्छीखासी मात्रा पायी जाती है और कई बार दूध से भी ज्यादा. ऐसी ही एक बड़ी आम सी दाल है जिसमें दूध से ज्यादा कैल्शियम पाया जाता है. इस दाल का नाम है तूर की दाल (Toor Dal) या अरहर की दाल. इंटरनेशनल सेंटर फॉर रिसर्च इन सेमी-एरिड ट्रोपिक्स (ICRISAT) ने रिसर्च में पाया कि छिलके वाली तूर की दाल में दूध से ज्यादा कैल्शियम होता है. आइए जानें तूर की दाल में कैल्शियम की मात्रा और अन्य गुणों के बारे में. 

यह भी पढ़ें

Vitamin B12 की कमी से शरीर पर दिखने लगते हैं ये 5 लक्षण, वक्त रहते पहचानना है समझदारी 

कैल्शिय से भरपूर तूर की दाल | Calcium Rich Toor Dal 


तकरीबन 100 ग्राम दूध में 125mg कैल्शियम पाया जाता है. वहीं, 100 ग्राम तूर की दाल में 130mg कैल्शियम होता है. जो बच्चे या फिर बड़े भी दूध पीने में आनाकानी करते हैं या फिर मुंह बनाते हैं यह कहते हुए कि बदबू आती है, उनकी डाइट में तूर की दाल शामिल की जा सकती है. तूर की दाल में फाइबर भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है. खासकर उबली हुई तूर की दाल (Boiled Toor Dal) फाइबर की अच्छी स्त्रोत है. एक कप उबली हुई तूर की दाल में 9.5g तक फाइबर होता है. फाइबर से भरपूर फूड्स सेहत को कई तरह से फायदे पहुंचाते हैं. सबसे महत्वपूर्ण है कि फाइबर पाचन को दुरुस्त करता है. साथ ही, तूर की दाल में जरूरत के अनुसार ही सोडियम और कार्बोहाइड्रेट्स भी पाए जाते हैं. 

क्यों जरूरी है कैल्शियम 


कैल्शियम एक जरूरी खनिज है जिसकी शरीर को आवश्यक्ता होती है. कैल्शियम की मदद से ही शरीर की कोशिकाएं ठीक तरह से काम कर पाती हैं. जैसे ही शरीर को पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम नहीं मिलता वह हड्डियों से कैल्शियम सोखना शुरू कर देता है. बता दें कि व्यक्ति को प्रतिदिन 1,300 mg तक कैल्शियम की आवश्यक्ता होती है. 

कैल्शियम से ही हड्डियों की सेहत (Bone Health) दुरुस्त रहती है. अगर शरीर को पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम ना मिले तो उसे हड्डियों से जुड़े रोग हो सकते हैं, हड्डियां कमजोर हो जाती हैं, शरीर के अलग-अलग हिस्से में जैसे हाथों, पैरों और कमर की हड्डियों में दर्द होने लगता है. 

कई रिसर्च में इस बात का जिक्र मिलता है कि शरीर में कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए फूड सप्लीमेंट्स से बेहतर खाने से कैल्शियम की पूर्ति करना है. 

Diabetes के मरीजों के लिए कमाल के साबित होते हैं ये 5 ड्रिंक्स, ब्लड शुगर लेवल बढ़ाते नहीं बल्कि करते हैं कम 

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.


 

जरीन खान मुंबई एयरपोर्ट पर आईं नज़र, नए स्टाइल में लगी बेहद खूबसूरत



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.