Gyanvapi Mosque Case LIVE Updates: ज्ञानवापी केस की मेरिट पर फैसला आज, वाराणसी में सुरक्षा कड़ी, धारा 144 लागू


ज्ञानवापी सर्वे की रिपोर्ट 19 मई को जिला अदालत में पेश की गई थी.

उत्तर प्रदेश के वाराणसी की जिला अदालत में आज ज्ञानवापी मस्जिद (Gyanvapi Mosque) शृंगार गौरी केस की मेरिट पर सुनवाई होनी है. जज डॉ. अजय कृष्ण विश्वेश की अदालत में आज यह तय हो जाएगा कि कोर्ट में दायर वाद सुनने योग्य है या नहीं. कोर्ट के फैसले से पहले शहर में सुरक्षा पुख्ता की गई है और पूरे वाराणसी में धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है.

इस बीच, वाराणसी के एडिशनल एसपी संतोष कुमार सिंह ने NDTV से कहा  कि हम लोगों से अपील कर रहे हैं कि शांति व्यवस्था बनाए रखें. फ़ैसला चाहे कुछ भी हो, सड़कों पर न आएं.

5 प्वाइंट न्यूज : श्रृंगार गौरी मामले की सुनवाई से जुड़ी 5 सबसे अहम बातें

उन्होंने बताया कि बनारस के सभी बड़े लोगों से बातचीत की जा चुकी है.  मुस्लिम धर्म गुरुओं और हिंदू धर्मगुरुओं के साथ बैठक की है, सब शांति व्यवस्था बनाने में सहयोग कर रहे हैं. बतौर एडिशनल एसपी पूरे वारणसी में धारा 144 लगा दी गई है. इसके अलावा कोर्ट जाने वाले सभी लोगों की सघन जांच की जा रही है.

Here are the LIVE Updates of  Gyanvapi Mosque Case : 

.

 

ये फैसला भी सुप्रीम कोर्ट से ही होगा, ऐसा लगता है : मुस्लिम पक्ष के वकील

ज्ञानवापी केस में मुस्लिम पक्ष के वकील मोहम्मद तौहीद ने कहा कि हमने कोर्ट में तमाम साक्ष्य रखे हैं कि यहां 1947 से पहले से मस्ज़िद थी.  ये याचिका 1991 के पूजा स्थल क़ानून के तहत नहीं सुनी जा सकती. उन्होंने कहा कि हमने 1883 के क़ागज़ात भी कोर्ट में पेश किया है. बतौर तौहीद इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 1986 में दीन मोहम्मद के केस में आदेश दिया था कि यहां मस्ज़िद है. उन्होंने कहा कि अगर हमारे पक्ष में फ़ैसला नहीं आया तो हम उच्च न्यायालय जाएंगे. तौहीद ने कहा कि हमें लगता है ये फ़ैसला भी सुप्रीम कोर्ट से ही होगा. 

मुस्लिम पक्ष का दावा- मामला सुनवाई योग्य नहीं
मुस्लिम पक्ष ने इस मामले को उपासना स्थल अधिनियम के खिलाफ बताते हुए कहा था कि यह मामला सुनवाई के योग्य नहीं है. वहीं, हिंदू पक्ष का दावा है कि मुस्लिम पक्ष बहुत पुराने दस्तावेज पेश कर रहा है जो इस मामले से संबंधित नहीं है. इस मामले में दोनों पक्षों की दलीलें पूरी हो चुकी हैं. 

हिन्दू और मुस्लिम पक्ष की बहस पूरी हो चुकी
ज्ञानवापी परिसर स्थित मां श्रृंगार गौरी के नियमित दर्शन-पूजन की मांग को लेकर वाराणसी के जिला जज ए. के. विश्वेश की अदालत में चल रहा मुकदमा सुनवाई योग्य है या नहीं, इस पर हिन्दू और मुस्लिम पक्ष की बहस पूरी हो चुकी है. अदालत ने इस मामले में आदेश को सुरक्षित रख लिया था. अदालत सोमवार 12 सितंबर को इस पर अपना फैसला सुनाएगी.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.