VIDEO: “आप मुझे जबरदस्ती सुरक्षा दे रहे’- सिक्योरिटी कारण बताकर ऑटो में बैठने से रोके जाने पर बोले अरविंद केजरीवाल


अहमदाबाद:

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को गुजरात पुलिस ने ऑटो में बैठने से रोक दिया. पुलिस ने सुरक्षा का हवाला देते हुए उन्हें ऑटो पर नहीं बैठने दिया. जिसके बाद अरविंद केजरीवाल और पुलिस के बीच कुछ देर तक बहस हुई. अरविंद केजरीवाल अहमदाबाद में अपने होटल से एक ऑटो वाले के यहां ऑटो में बैठ कर खाना खाने के लिए जाने वाले थे.

पुलिस और केजरीवाल के बीच बहस का एक वीडियो सामने आया है जिसमें केजरीवाल पुलिस से कह रहे हैं कि आप मुझे जबरदस्ती सुरक्षा दे रहे हैं. मुझे नहीं चाहिए ये सुरक्षा.

यह भी पढ़ें

इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को गुजरात के ऑटोरिक्शा चालकों से वादा किया कि वह उन्हें उत्पीड़न से बचाने तथा भ्रष्टाचार को रोकने के लिए उनकी दहलीज तक क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय (आरटीओ) की सेवाएं उपलब्ध करायेंगे. आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक गुजरात के अहमदाबाद शहर में ऑटोरिक्शा चालकों की एक सभा को संबोधित कर रहे थे. राज्य में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं.

इस दौरान केजरीवाल ने कहा कि ऑटोरिक्शा चालकों ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में उनकी जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. उन्होंने चालकों से अनुरोध किया कि वे दिल्ली की तरह यहां भी अपने यात्रियों के बीच और सोशल मीडिया के माध्यम से आप का प्रचार-प्रसार करें. उन्होंने कहा कि दिल्ली में उनकी सरकार ने कोविड-19 के कारण लागू लॉकडाउन के दौरान लगभग 1.5 लाख चालकों को दो बार पांच-पांच हजार रुपये का भुगतान किया.

केजरीवाल ने कहा, ‘‘दिल्ली में आपको लाइसेंस के नवीनीकरण, स्वामित्व परिवर्तन और परमिट या आरसी से लोन हटवाने जैसे कार्यों के लिए क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय जाने की आवश्यकता नहीं है. हमने एक फोन नंबर दिया है. कॉल करें और दिल्ली सरकार का एक अधिकारी आपके दरवाजे पर खुद पहुंचेगा. आप अपने लाइसेंस का नवीनीकरण उसी तरह करवा पाएंगे जैसे आप फोन पर पिज्जा ऑर्डर करते हैं.” केजरीवाल ने कहा कि इससे रिश्वतखोरी रुकेगी. उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मियों, सरकारी अधिकारियों को रिश्वत के तौर पर दिया जाने वाला पैसा बच जाएगा. उन्होंने कहा, ‘‘आपको कोई रिश्वत देने की जरूरत नहीं होगी. लेकिन इसके लिए आपको ‘आप’ की सरकार बनानी होगी.”

कार्यक्रम में मौजूद कुछ ऑटोरिक्शा चालकों ने दावा किया कि उन्हें भारतीय दंड संहिता की धारा 188 (लोक सेवक द्वारा विधिवत लागू आदेश की अवज्ञा) के तहत पुलिस द्वारा परेशान किया गया था. केजरीवाल ने कहा दिल्ली में भी उत्पीड़न के लिए इस (धारा) 188 का इस्तेमाल किया गया था, लेकिन उनकी सरकार ने लोगों को धारा-188 से मुक्त कर किया और गुजरात में भी ऐसा ही करेंगे. आप नेता ने कहा कि पार्टी अपने वादे के अनुरूप 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली मुहैया कराएगी जिससे ऑटोरिक्शा चालकों को पैसे बचाने और महंगाई से निपटने में मदद करेगी.





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.